♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

सहारनपुर: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सहारनपुर आगमन पर गन्ना भुगतान को लेकर किसान करेंगे सवाल- भगत सिंह वर्मा

[simple-author-box]

सहारनपुर -आज यहां पेपर मिल रोड पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा कार्यालय पर किसानों की एक बैठक को संबोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश की 120 चीनी मिलों पर पिछले वर्ष का गन्ना भुगतान 3000 करोड़ रुपए बकाया है। और पिछले वर्षों में देरी से किये गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज 10 हजार करोड़ रुपए ब्याज बकाया है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि इस बार गन्ना किसानों की लागत एक कुंतल गन्ने की पैदावार पर ₹440 प्रति कुंटल आई है इस हिसाब से गन्ने का रेट ₹660 कुंटल होना चाहिए लेकिन उत्तर प्रदेश योगी सरकार ने 4 वर्ष में मात्र ₹25 कुंतल गन्ने का रेट बढ़ाकर प्रदेश के गन्ना किसानों के साथ क्रूर मजाक किया है। गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंटल कम से कम होना चाहिए। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि हरित क्रांति के जनक महान कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार गन्ना किसानों के सभी खर्च जोड़कर गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंतल होना चाहिए। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसानों को बिजली सबसे महंगी मिल रही है किसानों को डीजल महंगा खरीदना पड़ रहा है। खाद कृषि यंत्र कीटनाशक दवाई लगातार महंगी होने से किसानों की खेती लगातार महंगी होती जा रही है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि 2 दिसंबर को जिला के गन्ना किसान गृहमंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी जी से सवाल करेंगे की गन्ना किसानों का चीनी मिलों से गन्ना भुगतान व ब्याज कब मिलेगा गन्ने का लाभकारी रेट ₹600 कुंतल कब होगा खाद बिजली डीजल के रेट कम कब होंगे। बैठक की अध्यक्षता करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने कहा कि भाजपा की प्रदेश और केंद्र सरकार किसान गरीब व गन्ना किसान विरोधी है। बैठक का संचालन करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के प्रदेश महामंत्री आसीम मलिक ने कहा कि कृषि प्रधान देश भारतवर्ष में सरकार की गलत नीतियों के कारण देश के अन्नदाता किसान लगातार गरीब होते जा रहे हैं और कर्ज बंद होकर आत्महत्या करने को मजबूर हैं। देश के अन्नदाता किसानों की क्रय शक्ति बढ़ने से ही देश आर्थिक रूप से मजबूत होगा। किसानों की लगातार बढ़ती हुई समस्याओं को लेकर पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का एक प्रतिनिधिमंडल 2 दिसंबर को गृह मंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी जी से बात करेगा। बैठक में वीरेंद्र सिंह बिल्लू विनोद सैनी नीरज सैनी प्रधान रविंद्र चौधरी प्रधान सुधीर चौधरी पूर्व जिला पंचायत सदस्य संजय चौधरी हरपाल सिंह जोगिंदर सिंह नरेश कुमार एडवोकेट अजीत सिंह प्रधान अमित कुमार वसीम जहीरपुर हाजी सुलेमान हाजी साजिद मोहम्मद राशिद याकूब यासीन त्यागी हाजी मन्नान त्यागी डॉक्टर यशपाल त्यागी सुभाष त्यागी धन प्रकाश त्यागी आदि ने भाग लिया।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275