♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

कन्नौज: आसरा योजना से बनाए गए 444 आवासों को आवंटित किए जाने की मांग को लेकर सपाईयों ने किया प्रदर्शन

[simple-author-box]

कन्नौज। सपा सरकार में गरीबों को पक्की छत मुहै़या कराने के लिए जिले के छिबरामऊ कस्बा में शंकरपुर रोड स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय के पास आसरा योजना के तहत आवासों का निर्माण कराया गया था. करीब 26 करोड़ की लागत से 444 आवासों का निर्माण कराया गया. अभी तक गरीबों को आवास आवंटित न होने से सपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश है. आवास आवंटित किए जाने की मांग को लेकर सपाईयों ने विरोध प्रदर्शन किया. आरोप लगाया है कि भाजपा गरीबों के हितों की बात करती है. लेकिन सालों से आवास बनकर तैयार है. उसके बावजूद गरीबों को आवास आवंटित नहीं किए गए. लोग पॉलीथीन डालकर रहने को मजबूर है. कहा कि सपा सरकार जाने के बाद प्रदेश सरकार ने इन आवासों की ओर मुड़कर तक नहीं देखा.

सपा शासन काल में गरीबों को आवास मुहैया कराने के लिए आसरा योजना के तहत छिबरामऊ कस्बा में शंकर रोड पर 26 करोड़ की लागत से 444 आवासों का निर्माण कराया गया था. सरकार बदलते ही योजना को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया. आज तक गरीबों को आवास आवंटित नहीं किए गए. सोमवार को सपा नेता व पूर्व ब्लॉक प्रमुख नवाब सिंह यादव की अगुवाई दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सरकार पर गरीबों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. नवाब सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा आसरा योजना संचालित की जाती थी. जिसमें केंद्र सरकार रुपए देती है और राज्य सरकार आवासों का निर्माण कराती है. 2009 में बसपा सरकार में 17.5 करोड़ रुपए आए और आवास बनकर तैयार हुए. 2015 में सपा शासन काल में 12.5 करोड़ रुपए आवासों का अधूरा काम पूरा करने के लिए आए. जिसके बाद आवास निर्माण कार्य पूरा कराने का काम किया. करीब 26 करोड़ की लागत से 444 आवास व पानी की टंकी बनकर तैयार है. लेकिन सपा सरकार जाने के बाद किसी ने इसकी ओर ध्यान नहीं दिया. कहा कि भाजपा सरकार गरीबों की हितैषी बताती है. आवास बनकर तैयार है लेकिन अभी तक गरीब लोगों को आवास नहीं बांटे गए. सर्दी के मौसम ने दस्तक दे दी है. लोग पॉलीथीन डालकर रहने को मजबूर है. कहा कि ढूंढ ढूंढकर अपनी पार्टी वालों को दे दो किसी का तो भला होगा.

 

रिपोर्ट: ज्ञानेंद्र दूबे (ब्युरो चीफ, कन्नौज)

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275