♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

सहारनपुर/मुज़फ्फरनगर: इंडियन ऑयल तेल चोरी प्रकरण में बड़ी कार्यवाही, मुज़फ्फरनगर डीएसओ की गिरफ्तारी

[simple-author-box]

रिपोर्ट: ब्यूरो डेस्क, शुभम मित्तल (ब्यूरो, सहारनपुर)

सहारनपुर/मुज़फ्फरनगर:*एसएसपी अकाश तोमर की अगुवाई में सरसावा पुलिस क्राइम क्राइम ब्रांच टीम की की बड़ी कार्रवाई*

*तेल चोरी के मामले में मुजफ्फरनगर के जिला पूर्ति अधिकारी गिरफ्तार, मुजफ्फरनगर के जिला पूर्ति अधिकारी बृजेश कुमार पूर्व में भी शाहजहांपुर में रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने पर जा चुके हैं जेल*

_______________________:
सहारनपुर। एसएसपी आकाश तोमर की अगुवाई  में सरसावा पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की टीम ने मुजफ्फरनगर मैं तैनात जिला पूर्ति अधिकारी बृजेश शुक्ला को देर रात गिरफ्तार कर लिया इससे पूर्व मुजफ्फरनगर के ही जिला पूर्ति अधिकारी कार्यालय मे तैनात कर्मचारी गिरफ्तार किया गया था। जिसने मुजफ्फरनगर के थाना भोपा में अवैध रूप से पेट्रोल पंप के संचालन के लिए जिला पूर्ति अधिकारी की ओर से तीस हजार रुपये  महीना लेना स्वीकार किया था। गौरतलब है कि थाना सरसावा पुलिस पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की टीम ने पिछले दिनों सरकारी तेल पाइपलाइन से चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के 12 सदस्य को गिरफ्तार कर जेल भेज दिये थे। पकड़े गए आरोपियों ने पिछले 2 वर्षों से पश्चिमी उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड में 16 घटनाओं में कम से कम एक लाख लीटर डीजल और पेट्रोल चोरी किया। जिसमें  पेट्रोल पंप मालिकों को भी गिरफ्तार किया गया। आईओसीएल की टीम ने उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड के डीजीपी को इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी।
सहारनपुर के तेजतर्रार एसएसपी ने तत्काल टीम गठित कर कार्रवाई शुरू कर दी।
एसएसपी आकाश तोमर  जानकारी देते हुए बताया एक तेल चोरी के प्रकरण में  मुजफ्फरनगर के जिला पूर्ति अधिकारी बृजेश शुक्ला को देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। डीएसओ बृजेश कुमार शुक्ला पूर्व में भी शाहजहाँपुर में रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने पर जेल जा चुके हैं।

वहीं इससे पूर्व जिला आपूर्ति कार्यालय में पदस्थापित श्रीराम कन्नौजिया को गिरफ्तार किया गया था।  उन्होंने थाना भोपा, मुजफ्फरनगर में पेट्रोल पंप पर अवैध संचालन की सुविधा के लिए डीएसओ की ओर से 30,000 प्रति माह लेना स्वीकार किया था। पानीपत रिफाइनरी से पाइपलाइनों के राष्ट्रीय सुरक्षा/आर्थिक तंत्र को निशाना बनाने वाले गिरोह के 12 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया।  उन्होंने पिछले 2 वर्षों में वेस्ट यूपी और उत्तराखंड में 16 घटनाओं में कम से कम 1 लाख लीटर डीजल और पेट्रोल चोरी किया था। बड़े डीजल टैंकर, ट्रैक्टर, लग्जरी कारें, ड्रिलिंग उपकरण बरामद और पेट्रोल पंप मालिकों को गिरफ्तार किया गया था।  आईओसीएल की टीम ने इससे पहले डीजीपी यू.पी. और डीजीपी उत्तराखंड जिसके बाद मेरे द्वारा टीम बनाई गई।

सहारनपुर के तेजतर्रार एसएससी अकाश तोमर की अगुवाई में थाना सरसावा पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की टीम  बड़ी कामयाबी के लिए बधाई के पात्र हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275