♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

नियमों को ताक पर रखकर बज

[simple-author-box]

भाग्य शर्मा (संवाददाता शाहपुर)

 

शाहपुर,बस्ती के अंदर की गली हो या फिर मुख्य सड़क हर जगह प्रेशर होरन वाले वाहनों के शोर से कान के परदे ही नहीं बल्कि ह्रदय तक कांप जाता है हालात यह है कि नियमों को ताक पर रखकर वाहन चालक प्रतिबंधित स्थानों पर प्रेशर होरन का इस्तेमाल खूब करते नजर आ रहे हैं वही लोग नई बुलेट जैसे बाइकों में प्रेशर होरन के साथ बिना जाली वाले साइलेंसर लगवा कर बस्ती के अंदर की गलियों में फर्राटा भरते नजर आ रहे हैं ऐसे में प्रेशर होरन की गड़गड़ाहट से सिर दर्द,कान दर्द, बेचैनी उलझन, चिड़ चिड़ापन समेत हृदय संबंधित परेशानी आम होती जा रही है वाहनों में प्रेशर होरन लगाकर लोग ध्वनि प्रदूषण कर आदेशों की धज्जियां उड़ाते वाहन सड़कों पर फर्राटो के साथ दोड़ते नजर आते हैं जिससे लोगों को परेशानी हो रही है मेन रोड के अलावा कस्बे के अंदर भीड़भाड़ वाले इलाके बाजारों,गलियों, स्कूलों, अस्पतालों समेत सभी स्थानों पर प्रेशर होरन का उपयोग करने से लोगों की तकलीफें बढ़ रही है खास बात है कि मोटरसाइकिल वाहन चालकों द्वारा नियमावली का तनिक भी ध्यान नहीं रखा जाता जिम्मेदारों की अनदेखी से इन वाहन चालकों के हौसले बुलंद है वाहन चालक एक दूसरे से आगे निकलने के चक्कर में तेज आवाज वाले प्रेशर होरन का प्रयोग कर रहे हैं जिससे हर जगह शोर ही शोर है हैरत की बात है कि प्रेशर होरन वाले वाहन हर रोज पुलिसकर्मियों के सामने से ही गुजरते हैं लेकिन पुलिसकर्मी पर उनके खिलाफ कार्यवाही नहीं करने का आरोप है वाहन निर्माता कंपनियां मानकों के अनुरूप होरन लगाती है लेकिन वाहन मालिक बाद में तरह-तरह के होरन लगवा लेते हैं जरूरत न होने पर भी वाहन चालक हौरन बजाते हुए चलते हैं बाइक में लगे प्रेशर होरन और उससे निकलने वाले 90 डेसीबल से अधिक की ध्वनि कान के पर्दे को नुकसान पहुंचा रही है

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275