♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

मोदीनगर विधानसभा सीट से भाजपा से प्रत्याशी हो सकते हैं श्रीकान्त त्यागी, लगाए जा रहे हैं कयास

[simple-author-box]

रिपोर्ट: जितेंद्र कुमार (ब्यूरो, ग़ाज़ियाबाद)
गाजियाबाद । मोदीनगर विधानसभा क्षेत्र क्रं 57 से विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के तौर पर भाग्य आजमाने की दिशा में निरन्तर आगे बढ़ते गाजियाबाद के लोकप्रिय नेता श्रीकांत त्यागी को विधानसभा क्षेत्र में अपार जन समर्थन और मतदाताओं का खूब आशीर्वाद मिल रहा है ।
बता दे कि श्रीकान्त त्यागी गत वर्षों से पूरे विधानसभा क्षेत्र में मैदानी पकड़ बनाते हुए आमजन के बीच अपनी मिलनसार छवि निरूपित कर चुके है । युवा और फ्रेश चेहरा होने के कारण मोदीनगर विधानसभा से श्रीकान्त त्यागी आमजन की पहली पसंद बन चुके है ।
हालांकि विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने अभी अपने प्रत्याशी घोषित नही किये है लेकिन भाजपा से श्रीकान्त त्यागी को विजयी उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा है ।वहीं जनता के बीच चर्चा है कि श्रीकान्त त्यागी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल मार्गदर्शन में गाजियाबाद के मोदीनगर में विकास की इमारत को बुलंदियों पर पहुंचाने का सामर्थ्य रखते है इसमे कोई दो राय नही है ।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भी श्रीकान्त त्यागी को मजबूत दावेदार के रूप में देखा जा रहा था मगर भाजपा से उम्मीदवार न बनाये जाने के बाद भी श्रीकान्त त्यागी केंद्र एवं प्रदेश सरकार की जन महत्वकांक्षी योजनाओं का लाभ धरातल पर नागरिकों को मिले इसके लिए लगातार प्रयासरत रहे हैं । इसके साथ ही वर्तमान विधायक डॉ मंजू शिवाच के लिए आम जनों में रोष साफ दिखाई पड़ता हैं। इसके अलावा त्यागी समाज को सदैव भाजपा के लिए वोट बैंक के रूप में देखा गया है इसलिए त्यागी समाज को नाराज करने की भूल बीजेपी को पढ़ सकती है भारी, क्योंकि गुर्जर और ठाकुर संप्रदाय के लोग सम्राट मिहिर भोज विवाद के कारण भाजपा के खिलाफ दिखाई पड़ते हैं, जाट संप्रदाय भी राकेश टिकैत के साथ भाजपा के खिलाफ खड़ा दिखाई मिला है और अल्पसंख्यक वोट भी भाजपा के समर्थन में नहीं है।

अभी कुछ दिन पूर्व ही श्रीकांत त्यागी ने लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला एवं लोकसभा सदस्य एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी श्री राधा मोहन सिंह से मुलाकात की थी, जिससे यह कयास लगाए जा रहे हैं कि, बीजेपी श्रीकांत त्यागी को टिकट देकर अपना भाग्य आजमा सकती है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275